Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

मैंने अक्सर उसको चोदा…

नमस्कार दोस्तों मै नवीन अन्तःवासना में आपका स्वागत करता हूँ ……मैं लुधियाना का रहना वाला हूँ……हमारे  घर में एक नौकर  हैं जिसका नाम किशन है ….किशन की बेटी कमला हमारे घर झाड़ू पोछा करने आती है……किशन अपनी बेटी को छोड़ कर किसी और के घर काम करने चला जाता था ……..कमला की उम्र २० साल ,रंग गोरा और वो बहुत स्मार्ट थी……….मेरी माँ जब भी घर से बाहर  जाती तो मैं उसके बदन को घूरता……..अक्सर मैं किसी न किसी बहाने उसको टच करने की कोशिश करता रहता …..उसकी छलकती जवानी अक्सर मेरे लंड को खड़ा कर देती और मैं मुठ मारके अपने लंड को शांत कर लेता था ……एक दिन मा को किसी के घर जाना था  और घर में कोई नही था …मुझे कोचिंग के लिए जाना था …..जाने से पहले मा ने कहा घर जल्दी अया जाना क्योकि घर में कमला अकेली रहेगी …..मा ने कमला को उस दिन घर नही जाने दिया क्यूकी  उसको खाना बनाना था .मैं कोचिंग  से जल्दी ही फ्री  हो गया और उस दिन  कमला को चोदने का प्लान बना लिया ……जब मैं घर पंहुचा तो वो चावल सॉफ कर रही थी, उसने चावल गैस पर पकने  के लिए रख दिया …..जब वो फ्री थी तब मैंने उसे ऊपर बुलाया और कहा की आओ तुम्हे अच्छा सा म्यूजिक सुनाता हूँ ……..आपको बता दूँ की कमला म्यूजिक की दीवानी है ….मैं  उसे कंप्यूटर वाले रूम में ले गया और एक अच्छा सा गाना लगाके उससे बातें करने लग गया……मैंने कंप्यूटर में  कुछ देसी पिक्स ओपन की उसने बोला यह क्या खोल दिया….इतने में मैंने उसको बेड पर पटक कर उसके होठों को चूमने लगा…..पहले तो वो मुझे बहुत रोकने की कोसिस हर रही थी लेकिन थोड़ी देर में वो खुद मेरा चूमने में साथ देने लगी …..मैं  चूमते चूमते उसकी चुचियों तक आ गया और उसकी चुचियों को दुप्पटे के ऊपर से ही दबाने लगा …थोड़ी देर में मैंने उसका दुप्पटा दूर फेक दिया और उसकी कमीज उतारने की कोसिस करने लगा और थोड़ी कोसिस के बाद उसकी कमीज भी उतार दीकमीज उतारने के बाद मैंने उसकी चुचियों को चूमा और उसके जिस्म पे हाथ फेरने लगा वो खामोश हो गई और कुछ कर नही पा रही थी.मैने उसकी ब्रा भी निकाल दिया और उसके निप्पल  को चूसने लगा,उसको मज़ा आने लगा और आहिस्ता आहिस्ता आवाज़ निकल ने लगी आ उहह.मैंने उसकी शलवार को नीचे के तरफ खीच दिया और पूरे कपड़े  उतार दिए और वो नंगी हो गई मैं उसके नंगे बदन को देखकर पागल हो गया और चूची  चूसने लगा उसके बाद मैंने अपने कपडे उतार दिए….उसने मेरा लंड अपने हाथ में लिया और मेरा लंड चूसने लगी और एकदम  मस्त हो गई.फिर मैंने अपना लंड हाथ में लिया और उसकी  चूत  पर  फेरने लगा उसको बहुत  मज़ा आ  रहा था….मैंने कमला को बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसके मुह में अपना लंड आगे पीछे करने लगा …..अब मैंने अपना लंड उसके मुह से निकाल कर उसकी चूत पर रख दिया ….जब मैंने हल्का सा धक्का दिया तो वो चिल्लाने लगी तब मुझे पता चला की वो अभी कुवारी है …..अब मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत में पेल रहा था …मेरी हलकी हलकी चुदाई से वो कुछ देर में मदहोश होने लगी और चुतड उठा के मेरा साथ देने लगी …जब कमला की सील टूट गयी तो वो मुझे और जोर से चोदने के लिए बोली …मैं भी उसकी बातों से जोश में आ  गया और उसको जोर जोर से चोदने लगा…इस तरह वो आवाज़ निकालने लगी ऊहह स मज़ाह अआ  रहा है और करो बस करते रहो….मैं भी करता रहा और मज़े लेता रहा….वो  बार बार कहने लगी  मर गयी जान मैं  मर गयी  क्या मस्त लंड  है तुम्हारा मुझे बहुत  मज़ा आ रहा हैं..इतना कहते कहते वो झड गयी ….मैंने कहा हा जान इसमें तो मज़ा ही आता हैं और अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया ……फिर मैंने उसकी  चूची  को चूसना शुरू कर दिया और चूसते चूसते निचे आ गया और कसकी चूत पे जीभ रख दी…. मैं उसके नीचे आ गया और चूत  को चाटने लगा तो  कमला फिर मस्त होने लगी…..और मैंने फिर अपना लंड उसकी बुर में पेल दिया और सटा सट चुदाई करने लगा ……वो लगातार आहे भरने लगी….मेरा लंड बुरी तरह फूल गया था और उसकी चूत की दीवारों से रगड़ खा रहा था …..मेरा लंड इतनी बुरी तरह रगड़ रहा था की मेरे लंड का सुपाडा एकदम लाल हो गया था …..वो फिर एक बार अकड़ने लगी और मुझे जोर से चोदने के लिए कहने लगी …..मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से झड गया ….मैंने अपने वीर्य से उसकी चूत भर दी ….जब मैंने अपना लंड बाहर निकला तो उसकी चूत से मेरा वीर्य बहने लगा….अब माँ के आने का टाइम हो गया था इसलिए हमदोनो ने कपडे पहने और अपने काम में लग गए इसके बाद मैंने अक्सर उसको चोदा ….आप को यह कहानी कैसी लगी

আরও হটঃ  Meri Sali ki Adhuri Kahani

Reply